कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री का सख्त निर्देश, कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर होगी कार्रवाई - The Task News

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने मंगलवार रात वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोविड-19 की स्थिति की गहन समीक्षा की। उन्होंने कहा कि राजस्थान में संक्रमण बहुत अधिक तेजी से फैल रहा है, जिसका सबसे बड़ा कारण आमजन द्वारा कोविंड अनुशासन की प्रभावी पालना नहीं करना है।यदि लोग स्वयं अनुशासित होकर इस गति पर नियंत्रण में सहयोग नहीं करेंगे तो राज्य सरकार और अधिक कड़े कदम उठाएगी। सीएम गहलोत ने कहा कि तीनों मंत्रियों का दिल्ली दौरा केन्द्र सरकार को राजस्थान में संक्रमण के गंभीर हालात की वास्तविकता बताने में कामयाब रहा । मंत्री समूह ने दिल्ली में केन्द्रीय मंत्रियों एवं अधिकारियों के साथ दिनभर हुई मुलाकातों और बैठकों का ब्यौरा दिया। मंत्री समूह ने बताया कि उनका दिल्ली आना बहुत ही सार्थक रहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविङ रोगियों के बेहतर उपचार के लिए जयपुर सहित सभी जिलों में कोविड और नॉन कोविड अस्पतालों का अलग-अलग निर्धारण हो, ताकि ऑक्सीजन सहित तमाम संसाधनों की समय पर आपूर्ति के साथ ही बेहतर प्रबंधन सुनिश्चित हो सके। सीएम गहलोत ने कहा कि कोविड के कारण मौतों की संख्या में वृद्धि बेहद चिंता का विषय है..उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर अस्पतालों की गहन मॉनिटरिंग करते हुए अस्पतालों में संसाधनों की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करें। सीएम ने पुलिस- प्रशासन से ‘जन अनुशासन पखवाड़े की गाइडलाइन की पालना पूरी सख्ती के साथ कराने के निर्देश दिए…प्रमुख शासन सचिव गृह अभय कुमार ने बताया कि जन अनुशासन पखवाड़ा लागू होने के बाद की जा रही सख्ती से करीब 23 जिलों में पॉजिटिव केस की संख्या स्थिरता आई है। सीएम अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से फोन पर बात कर राजस्थान में कोविड-19 की गंभीर स्थिति से अवगत कराया है।