वेबसाइट बनाने के नाम पर पैसा ठगने वाला फ्रॉड - The Task News

इस शख्स का नाम है शिव, जो पेशे से खुद को वेब डिजाइनर बताता है लेकिन असल में ये एक ठग है, जो वेबसाइट बनाने के नाम पर लोगों से पैसा ठगता है और ग्राहक को ब्लैक मेल करता है, लोगों से इसका पैसा ठगने का तरीका बेहद भी शातिराना है, सबसे पहले ये बेवसाइट बनवाने वालों से मिलता है, फिर उसकी जरुरतों को समझ कर ग्राहक के हिसाब से बात करना शुरु करता है, ग्राहक को बेवसाइट बनाने के लिए जिस भी चीज की जरुरत होती है हर चीज में हामी भरता है, कम समय में कम पैसे में सारा काम कर के देने की बात कहता है, टेक्निकली सारा काम करने का दावा करता है और टेक्निकली हर तरह की सपोर्ट का भी दम भरता है, शुरुआत में लोगों का विश्वास जीतने के लिए कुछ काम भी करके दिखाता है, और फिर ग्राहक से पैसे की मांग करता है. मुलाकात के दौरान मिठी मिठी बातें करता है और खुद को परिवार के एक सदस्य की तरह पेश करता है, काफी कम वक्त में ये लोगों से मधुर संबंध बना लेता है, लेकिन इसके दिमाग में क्या चल रहा होता है ये किसी को खबर नहीं. काम के नाम पर अब ये लोगों से पैसा मांगना शुरु करता है, कभी घर में मां की हालत बहुत सीरियस है, तो कभी पिताजी की तबीयत काफी खराब है, तो कभी बच्चों का स्कूल फीस देना है, बहुत मजबूरी है. ऐसी सीरियस हालात बता कर लोगों से पैसे ले लेता है, मधुर संबंध वजह की वजह से लोग इसे पैसा भी दे देता है, क्योंकि ये उस वक्त आपका काम कर रहा होता है, लोग गलत फैमी में इस लिए भी दे देते हैं कि आदमी अच्छा है, काम कर ही रहा है, आज ना कल तो पैसा देना ही है, तो अभी जरुरत है तो दे देते हैं. इस बीच ये शख्स आपसे लगातार बात करता है, मिठी बाते और घरेलू संबंध बनाने की पूरजोर कोशिश करता है, लेकिन जैसे ही ये मोटा पैसा ले लेता है
उसके बाद इसके बहाने शुरु होते है, फोन उठाना बंद होता है और अंत में इसका असली चेहरा सामने आता है, जब काफी समय बीत जाता है तब जाकर ये ब्लैक मेल करना शुरु करता है. इतने कम पैसे में ये काम नहीं होगा, मुझे और पैसा चाहिए, ग्राहक जब कहता है कि बात तो और पैसे की नहीं हुई थी, तब कहता है कि उस वक्त अंदाजा नहीं था, अब आपके पास ना पैसा है और ना ही हाथ में वेबसाइट, जब आप पैसे की मांग करते हैं कि ठीक है जब काम नहीं
किया तो पैसा वापस करो तो कहता है कि ठीक है कर दूंगा, लेकिन उसके बाद फोन उठाना बंद, मैसेज पर रिप्लाई देना बंद और आखिर में ब्लॉक कर देता है, जब इससे पैसे की रसीद देने की बात होती है तो चुप, घर और ऑफिस का पता नहीं, इस तरह से ये शख्स गायब हो जाता है, इसका मोबाइल नम्बर- 9871646188 और इसका पता है – land no- 23, termer Road, C-town dehradon, वैसे तो इस शख्स ने अपना डीटेल नहीं दिया, लेकिन जिस बैंक में पैसा ट्रांस्फर किया गया वहां से डीटेल निकालने पर ये पता मिला, मुझ से इसकी मुलाकात अक्टूबर में नोएडा के फिल्म सिटी में हुई, बेवसाइट बनाने के लिए 20 हजार पैसे और मिड नवम्बर तक बेवबाइट पूरी करके देने की बात हुई, लेकिन जनवरी तक इसने काम नहीं किया और आखिर में काम के लिए और पैसे की मांग करने लगा. फिर फोन उठाना बंद, पैसा देना तो दूर की बात. ये फ्रॉड अब तक ना जाने कितने लोगों को ठग चुका है पता नहीं, इसका ये धंधा कितने दिनों, सालों से चल  रहा है इसकी कोई जानकारी नहीं, ये शख्स बहुत बड़ा फ्रॉड है और ऐसे फ्रॉड की जगह समाज में नहीं बल्कि जेल में होनी चाहिए, नहीं तो ये ऐसे ही लोगों से पैसा ठगता रहा है, लोगों की सोच, लोगों के सपनों के साथ खेलता रहेगा. इस शख्स के खिलाफ दो जगह केस करने जा रहा हू, पहला तो ये एक अपराधी प्रवृति का आदमी है, ठग है, फ्रॉड है, इसके लिए सिविल कोर्ट में मामला दर्ज होगा और दूसरा ये उपभोक्ता अदालत का भी मामला है, क्योंकि ये लोगों को सर्विस देने के नाम पर ठगी करता है तो उपभोक्ता के अधिकार के उल्लंघन का भी मामला है, अगर ये शख्स बाहर घूमता रहा तो लोगों को ऐसे ही ठगी का शिकार बनाता रहेगा