कोटा में रेमडेसीविर की जगह पानी का दिया इंजेक्शन, एक महिला की मौत, कई की हालत गंभीर - The Task News

कोटा में पानी का इंजेक्शन देने का मामला मानवाधिकार आयोग पहुंचा है. दरअसल कोटा हार्ट इंस्टिट्यूट के श्रीजी अस्पताल में रेमडेसीविर की जगह पानी का इंजेक्शन देने का मामला सामने आया था. जिसमें एक महिला की मौत हो गई थी. जबकि दूसरा मरीज रतनलाल अभी भी आईसीयू में भर्ती है. जिसके इंजेक्शन नर्सिंग कर्मी ने चुरा लिए थे और कालाबाजारी करते हुए पुलिस के डिकॉय ऑपरेशन में गिरफ्तार हुआ था. वहीं एक अन्य मरीज के परिजन संजय जैन ने भी आरोप लगाया था कि उसके पिता ओमप्रकाश को भी इसी तरह के इंजेक्शन दिए गए हैं. इस मामले में कोटा के एडवोकेट अख्तर खान अकेला ने राज्य मानव अधिकार आयोग को शिकायत की थी. इस पर राजस्थान राज्य मानव अधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस जीके व्यास ने कोटा के जिला कलेक्टर, प्रमुख शासन सचिव चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया है और चार सप्ताह के भीतर रिपोर्ट आयोग के समक्ष प्रस्तुत करने को कहा है. इस प्रकरण की अगली सुनवाई 22 जून 2021 को नियत की गई है.