यूपी में बहुचर्चित बाइक बोट घोटाले को लेकर लखनऊ में छिपेमारी, कई बड़े राज आए सामने - The Task News

जिस बोट बाइक घोटाले की चर्चा पूरे यूपी में थी और पुलिस शहर शहर घोटालेबाजों की तलाश में जुटी थी. उस घोटाले में बोट बाइक का सैकड़ों स्टॉक राजधानी लखनऊ में ही छिपाकर रखा गया था. शुक्रवार रात कमिश्नरेट की क्राइम ब्रांच और पीजीआई थाने की संयुक्त टीम ने रेड डालकर निगोहां और मोहनलालगंज इलाके से 145 मोटरसाइकिलें बरामद की हैं। ये मोटरसाइकिलें एक शोरूम के बेसमेंट और एक घर में छिपाकर रखी गई थीं। पुलिस ने इस मामले में 2 लोगों को हिरासत में लिया है।

पुलिस ने मोहनलालगंज स्थित कार्यालय से 117 मोटरसाइकिलें बरामद की, वहीं बेहनवां गांव के एक घर से 28 मोटरसाइकिलें बरामद की. बोट बाइक घोटाला 4 हजार करोड़ रुपए का है. अभय कुशवाहा नाम के बिल्डर ने हेलो राइड नाम की कंपनी खोली। उसने एक बाइक में निवेश करने पर एक साल के अंदर मोटा मुनाफा कमाने का झांसा दिया. लोगों ने पैसे लगाए और अभय ने सारे पैसे डकार लिए इस मामले में अबय जेल भी गया लेकिन जमानत पर बाहर आते ही वह विदेश भाग गया। उसके खिलाफ गोमतीनगर, विभूतिखंड, गाजीपुर, महानगर सहित कई थानों में करीब ढाई सौ से अधिक मुकदमे दर्ज हैं।