यूपी में चुनाव से पहले शराब माफियों पर नकेल कसने की योगी की प्लानिंग - The Task News

यूपी के अलीगढ़ में जहरीली शराब से 100 से ज्यादा लोगों की मौत के बाद अब योगी सरकार एक्शन में आ गई है. योगी सरकार ने शराब माफियाओं पर नकेल करने का बड़ा मास्टर प्लान तैयार किया है. यूपी में अब पिछले 15 सालों में अवैध शराब के दर्ज मुकदमों की दोबारा जांच की जाएगी. इतना ही नहीं सरकारी दुकान से अवैध शराब मिलने पर दुकान का लाइसेंस रद्द कर दिया जाएगा और दुकान के मालिक के ऊपर NSA के तहत कार्रवाई की जाएगी. जहरीली शराब मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ जीरो टॉलरेंस की रणनीति अपना रहे हैं. आरोपी कितना ही रसूखदार क्यों ना हो या फिर किसी भी पार्टी से जुड़ा हुआ ही क्यों ना हो सभी पर कार्रवाई करने का आदेश दिया है. अलीगढ़ शराब कांड के मुख्य आरोपी ऋषि शर्मा का नाम बीजेपी का कार्यकर्ता बताया जा रहा है. ऋषि शर्मा की गिरफ्तारी के बाद बीजेपी ने उसे पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है. वहीं अलीगढ़ के जिलाध्यक्ष ने सफाई देते हुए कहा है कि शराब कांड का आरोपी ऋषि शर्मा बीजेपी का सक्रिय सदस्य नहीं है. आरोपी ऋषि शर्मा पर पुलिस ने 1 लाख रुपये का इनाम रखा था. ऋषि शर्मा एक शातिर अपराधी बताया जा रहा है और शराब माफिया अनिल चौधरी के साथ मिलकर अवैध शराब का धंधा करता था