कोरोना ने बदल दिया मंदिरों का भी नियम कानून, भगवान के दर्शन के लिए दिखाने पड़ेंगे वैक्सीन लगे होने का सर्टिफिकेट - The Task News

कोरोना काल में अब भक्ति के तौर तरीके भी बदल रहे हैं. महामारी के इस दौर में अगर आपने कोरोना वैक्सीन नहीं लगवाई है तो आपके आराध्य भी आपको दर्शन नहीं देंगे. गाजियाबाद के दूधेश्वरनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन के लिए नई व्यवस्था लागू की गई है. इस मंदिर में आपको भगवान के दर्शन तभी मिलेंगे जब आपको कोरोना की वैक्सीन लगी होगी यानि अगर आपको कोरोना का टीका लगा है तभी आपको आस्था का टीका लगेगा.

8 जून से उत्तर प्रदेश में मंदिर खोले जा सकते हैं लेकिन कोरोना के खतरे को देखते हुए दूधेश्वरनाथ मंदिर प्रशासन ने साफ कह दिया है कि भगवान के दर्शन का अधिकार उन्हीं भक्तों को मिलेगा, जो कोरोना वैक्सीन लगे होने का सर्टिफिकेट दिखाएंगे. हालांकि मंदिर प्रशासन ने कहा है कि जो लोग किसी कारण से वैक्सीन नहीं लगवा पाए हैं. वो भी दर्शन कर सकेंगे लेकिन उन्हें कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना जरूरी होगा. मंदिर प्रशासन का कहना है कि महामारी के दौर में भक्तों की सुरक्षा को देखते हुए नई व्यवस्था लागू की गई है.