Economics of oxygen in corona /कोरोना में ऑक्सीजन का अर्थशास्त्र: प्लांट में ऑक्सीजन बनने से लेकर हॉस्पिटल तक पहुंचने का गेम प्लान - The Task News

कोरोना के इस महामारी में संक्रमित मरिजों की संख्या इतानी बढ़ने लगी है कि हॉस्पिटल में जगह मिलना मुश्किल हो रहा है, और अगर किसी तरह से संक्रमित मरीज अस्पताल में भर्ती भी हो जाते हैं, तो बेड और ऑक्सीजन की घोर कमी से परेशानियों का सामना करना पड़ता है, कोरोना के इस दूसरे लहर में कोरोना वायरस सबसे ज्यादा फेफड़े  पर अटैक कर रहा है जिससे लोगों को सांस लेने में काफी दिक्कत होती है, जिसकी वजह से शरीर में ऑक्सीजन लेवल कम होने लगता है. जिसके लिए मरीजो को बाहर से ऑक्सीजन देना पड़ता है, जिसकी इन दिनों काफी कमी हो रही है, क्योंकि मरीज ज्यादा हैं और देश में ऑक्सीनज बनाने वाली फैक्ट्री कम, जिसकी वजह से अब ऑक्सीजन गैस की भी कालाबाजारी शुरु हो गई है. जिसपर नकेल कसने के लिए केन्द्र सरकार ने ऑक्सीजन के नए प्लांट खोलने का फैसला लिया है साथ ही जिन प्लांटस में अभी ऑक्सीजन तैयार किया जा रहा है उसे अपने उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के लिए कहा गया है. तो आइए जानते हैं कि आखिर प्लांट में ये ऑक्सीजन कैसे बनता है।

प्लांट में मेडिकल ऑक्सीजन होती है ऐसे तैयार : कुदरत ने हवा में 21% ऑक्सीजन दे रहा खा है, जिसे हम सारे जीव जंतु सांस के रुप में लेते हैं, हवा में मौजूद उसी ऑक्सीजन को फिल्टर कर मेडिकल ऑक्सीजन तैयार किया जाता है. जिसे “क्रायोजेनिक डिस्टिलेशन प्रोसेस” कहा जाता है । जिसमें हवा में मौजूद नाइट्रोजन, कार्बन डाइऑक्साईड, पानी और भी कई तत्वों को ऑक्सीजन से अलग किया जाता है. फिर अलग किए हुए ऑक्सीजन को कंप्रेस्ड हवा डिस्टिलेशन कॉलम में भेजा जाता है जहां ऑक्सीजन को “ प्लेट फिन हीट एक्सचेंजर एंड एक्सपेंशन टर्बाइन प्रोसेस से उसे ठंडा किया जाता है  “प्लेट फिन हीट एक्सचेंजर एंड एक्सपेन्शन टर्बाइन प्रक्रिया” से ठंडा किया जाता हैं. फिर 185 डिग्री सेंटीग्रेट पर उसे गर्म कर डिस्टिल्ड किया जाता है. जिससे शुद्ध ऑक्सीजन तैयार हो जाती है जिसे एक कैप्सूलनुमा टैंकर और छोटे छोटे सिलेंडर में भर कर रखा जाता है। फिर जहां जहां इसकी जरुरत पड़ती है वहां इसे भेज दिया जाता है.

भारत में कितनी कंपनी बनाती है ऑक्सीजन : हमारे देश में कई सारी कंपनी है जो ऑक्सीजन बनाती है. उनके नाम ये हैं

  • 1 नेशनल ऑक्सीजन लिमिटेड
  • 2 ऐलनबरी इंडस्ट्रियल गैसेज लिमिटेड
  • 3 भगवती ऑक्सीजन लिमिटेड
  • 4 लिंडे इंडिया लिमिटेड
  • 5 आइनॉक्स एयर प्रोडक्ट्स लिमिटेड
  • 6 गगन गैसेज लिमिटेड
  • 7 रीफेक्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड