Latest Updates

रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच क्या खेल खेल रहा है अमेरिका, क्या अमेरिका यूक्रेन युद्ध को विश्व युद्ध की तरफ लेकर जाना चाहता है - The Task News

क्या यूक्रेन युद्ध को अब जान बूझकर अमेरिका और भड़काना चाहता है, क्या हथियारों और गैस-तेल के कारोबार के लालच में बाइडेन यूक्रेन युद्ध को लंबा खींचना चाहते हैं, ये सवाल इसलिए उठ रहे हैं क्योंकि जब रूस कह चुका है कि उसके सैन्य अभियान का लक्ष्य डोनबास क्षेत्र तक सीमित है तो अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पोलैंड में जाकर ये क्यों कहा कि ये लड़ाई अभी बहुत लंबी चलने वाली है. क्या यूक्रेन युद्ध को अमेरिका विश्व युद्ध की तरफ लेकर जाना चाहता है. यूक्रेन पर रूसी हमले थमे नहीं हैं, युद्ध के 32 दिन बाद भी रूसी सेना यूक्रेन के अलग अलग हिस्सों में आसमानी अटैक कर रही है और युद्ध के इस हालात में एक महीने गुजर जाने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन पोलैंड के दौरे पर पहुंचते हैं तो कभी पोलैंड वालों को लंबे युद्ध के लिए तैयार रहने को कहते हैं तो कभी पुतिन को ललकारते नज़र आते हैं. यूक्रेन की सीमा पर पोलैंड की धरती से बाइडेन एक तरफ़ रूस को उकसाते नज़र आते हैं तो दूसरी ओर पोलैंड और यूक्रेन वालों को कहते हैं कि युद्ध अभी ख़त्म नहीं होगा. लंबा चलेगा यूक्रेन की ज़मीन पर रूस तो अपना बारूद जला रहा है लेकिन यूक्रेनियन आर्मी के हाथों में जो हथियार हैं.यूक्रेन की सेना जो रॉकेट मिसाइलों से लेकर टैंक-हथियारों का इस्तेमाल कर रही है उसकी ताबड़तोड़ सप्लाई अमेरिका से भी हो रही है. क्या यही वजह है कि अमेरिका यूक्रेन युद्ध को और लंबा चलने के दावे कर रहा है. और ये तैयारी कैसी हो रही है इसका अंदाज़ा ऐसे लगाएं कि बाइडेन के साथ अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन और रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन साथ-साथ हैं. चाहे वो यूक्रेन हो या पोलैंड सबको अमेरिकी हथियारों की ज़रूरत हाथों-हाथ पूरी हो रही है. रूसी हमलों के सामने अगर यूक्रेन की सेना एक महीने से टिकी हुई है तो इसके पीछे अमेरिका और यूरोप के देशों से मिल रही हथियारों की मदद बड़ी वजह है. लेकिन अब यूक्रेन चाहता है कि रूस की सेना को जो दूसरे मुल्क मदद कर रहे हैं. उन पर अमेरिका सैंक्शंस लगाए. यूक्रेन के रक्षा मंत्री ओलेक्सी रेज़नीकोव ने दावा किया कि रूसी सेना दूसरे किसी बड़े देश में बने हथियारों की मदद से युद्ध लड़ रही है और अब अमेरिका उन विदेशी कंपनियों पर भी प्रतिबंध लगाता जा रहा है. ऐसे में यूक्रेन युद्ध का तनाव यूरोप और रूस से आगे बढ़कर दूसरे देशों तक फैलने का ख़तरा धीरे धीरे बढ़ता ही जा रहा है.

Place your Ads

The Task News