केंद्र और बंगाल सरकार की बढ़ती ही जा रही है तकरार - The Task News

यास तूफ़ान के बाद हुई समीक्षा बैठक में घटी घटनाओं को लेकर केंद्र और बंगाल सरकार के बीच तलखी बढ़ गई है । बंगाल में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने ममता सरकार पर अहंकारी होने का आरोप लगाया । ममता बनर्जी अपने अहंकार को संतुष्ट करने के लिए झूठ का सहारा ले रही हैं क्योंकि वो खुद को न केवल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बल्कि पूरे देश की मुख्यमंत्री सोचती हैं । ममता दीदी ने पीएम मोदी के साथ जिस तरह का व्यवहार किया, वह उनके तानाशाही रवैया और संवैधानिक मूल्यों के प्रति सम्मान की कमी को दर्शाता है । बंगाल की भलाई के लिए पीएम के साथ काम करने की बजाय वह ओछी राजनीति कर रही हैं । उनका बैठक छोड़ना घृणित है । ममता बनर्जी ने भी एक प्रेस वार्ती इस बैठक में विपक्ष के नेता को बुलाने को लेकर सवाल खड़े किए हैं । विपक्ष के नेता का बैठक में उपस्थित रहने का क्या मतलब है ? गुजरात में तूफान से मची तबाही का जायजा लेने के लिए जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य का दौरा किया तब विपक्ष के नेता को क्यों नहीं बुलाया गया ?