पीएम मोदी का ’’मिशन ऑक्सीजन’’, ऐसे पहुंचेगा हर मरीज तक ऑक्सीजन - The Task News

कोरोना के खिलाफ एक-एक सांस की लड़ाई है, उखड़ती सांसों के लिए एक-एक मिनट भारी है. ऑक्सीजन के बिना लोग मर रहे हैं. ऑक्सीजन के लिए लोग तड़प रहे हैं।ऑक्सीजन के बिना स्वास्थ सेवाएं हांफ रही है। अस्पताल मरीजों को भर्ती करने से मना कर रहे हैं। ऑक्सीजन के लिए जमीन आसमान एक करना होगा । कुछ भी करके मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचाना होगा। और कोरोना के खिलाफ सबको मिलकर लड़ना होगा
ऑक्सीजन की किल्लत को देखते हुए प्रधानमंत्री ने ऑक्सीजन प्लांट के मालिकों से बात की और कोरोना से प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। इस दौरान प्रधानमंत्री ने कहा कि-
1.जरूरी दवाओं की ब्लैक मार्केटिंग पर कड़ी कार्रवाई हो
2. ऑक्सीजन की सप्लाई में तेजी आनी चाहिए
3. अस्पतालों की सुरक्षा को नजरअंदाज नहीं किया जाए
सरकार ने ऑक्सीजन की कमी को गंभीरता से लिया है. और सड़क, ट्रेन और एयर के जरिए ऑक्सीजन टैंकर्स को अलग-अलग शहरों तक पहुंचाया जा रहा है।
गृह मंत्रालाय ने राज्यों को उत्पादन बढ़ाने के लिए बंद पड़ी आक्सीजन इकाइयों को दोबारा चालू करने के भी निर्देश दिए हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा देश में कोरोना के हालात की समीक्षा करने के बाद यह पहल की गई है। शाह ने आक्सीजन का उत्पादन बढ़ाने के लिए कई निर्देश दिए हैं. जिसके बाद देश के अलग अलग हिस्सों में जमीन, आसमान और पानी के जरिए ऑक्सीजन गैस पहुंचाने का सिलसिला शुरु हो गया है।
महाराष्ट्र के नागपुर में ऑक्सीजन एक्सप्रेस के जरिए ऑक्सीजन से भरे टैंकर्स पहुंचे हैं, ऑक्सीजन के 7 खाली टैंकर्स मुंबई से विशाखापत्तनम पहुंचाए गए थे। दूसरी ओर वाइजैग से चली ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन नासिक पहुंची है. ट्रेन में 4 ऑक्सीजन टैंकर्स थे जिनके जरिए अब लोगों की सांसे बचाई जाएंगी।
इतना ही नहीं मध्य प्रदेश के जबलपुर, झारखंड के धनबाद से ऑक्सीजन एक्सप्रेस लखनऊ के लिए रवाना हुई.
इंदौर में भी ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए वायुसेना ने कमान संभाल ली है । इंदौर में ऑक्सीजन का खाली टैंकर लेकर गुजरात के जामनगर जाने के लिए वायुसेना के विमानों की मदद ली जा रही है ।
ऐसी ही ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाई जा रही है जो खाली टैंकर लेकर ऑक्सीजन प्लांट जा रही है । और टैंकर में ऑक्सीजन भरकर जरूरत वाली जगह पर पहुंचाया जा रहा है
हैदराबाद में C-17 विमान से 8 खाली ऑक्सीजन टैंकर्स को एयरलिफ्ट करके ओडिशा पहुंचाया गया । एयरफोर्स के विमान ऐसे ही ऑक्सीजन टैंकर्स को इंदौर से जामनगर एयरलिफ्ट किया गया। एयरफोर्स का विमान C-130 गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस से मेडिकल उपकरण को जोरहाट तक एयरलिफ्ट कराया गया
मिशन ऑक्सीजन पहुंचाने के वक्त को बचाने की लड़ाई है क्योंकि एक-एक दिन नहीं, एक-एक घंटे नहीं, एक-एक मिनट भारी पड़ रहे हैं। ऐसा संकट आपने शायद ही देखा होगा जबक ऑक्सीजन के लिए अस्पताल प्रशासन परेशान है। मरीज लाचार हैं। यहीं वजह है कि ऑक्सीजन को लेकर गृह मंत्रालय ने भी राज्यों को निर्देश दिए हैं।
गृहमंत्रालय ने ऑक्सीजन टैंकर्स की सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा है. इसके अलावा ऑक्सीजन लाने के लिए विशेष कॉरिडोर बनाने की बात कहीं, गृहमंत्रालय ने कहा कि ऑक्सीजन टैंकर्स को एंबुलेंस समझा जाए