नालंदा इमरजेंसी हॉस्पिटल का घिनौना चेहरा, पैसे नहीं देने पर महिला को बनाया बंधक - The Task News

एक तरफ जहां पूरी दुनिया कोरोना से लोगों को बचाने में लगी है वहीं नालंदा में कोरोना का इलाज कराने गई एक महिला को अस्पताल प्रबंधक ने बंधक बना लिया. बताया जा रहा है कि बिहारशरीफ के इतवारी बाजार स्थित नालंदा इमरजेंसी हॉस्पिटल में कोरोना पीड़ित एक महिला को 3 दिन पहले हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. जहां एडमिट करने के वक्त ये कहा गया था कि प्रतिदिन 25 हजार रुपया लगेगा. लेकिन तीन दिन बाद जब परिजन मरीज को लेने गए तो वहां हॉस्पिटल ने 75 हजार की जगह 1 लाख 45 हजार का बिल थमा दिया. और जब परिजनों ने इतनी बड़ी रकम देने से इंकार किया तो मरीज को ही बंधक बना लिया. जिसके बाद परिजनों ने इसकी शिकायत जिला प्रशासन से की तब जाकर पुलिस बल के साथ अपर अनुमंडल पदाधिकारी मुकुल पंकज मनी वहां पहुंचे. हालांकि पुलिस की खबर सुनते ही अस्पताल ने बंधक महिला को छुड़ दिया और डॉक्टर नर्स मौके से फरार हो गए