बठिंडा में कुदरत का कहर, किसानों पर गिरी गाज - The Task News

बठिंडा में हुई बेमौसम बारिश के कारण किसानों की नरमे की फसल को पूरी तरह खराब हो गई है, किसानों ने खेतों में नरमे की बिजाई की थी. लेकिन वो बारिश में खराब हो गई. किसानों का कहना है कि हम पहले ही घाटे का सामना कर रहे हैं, अब दोबारा से कपास के बीज खेतों में डालने पड़ेंगे. जिस पर 1 एकड़ जमीन में करीब 10 हजार रुपये खर्च आएगा. कृषि विभाग के चीफ का कहना है कि मुझे कोरोना हुआ है,मैं ऑफिस में नहीं आ रहा हूं. लेकिन जो किसानों को नुकसान हुआ है उससे घबराने की जरूरत नहीं है. खराब फसलों के सर्वे के लिए कमेटी बनाई जाएगी।