कमजोर पड़ा सुपर साइक्लोन ताउ ते, 5 राज्यों में तबाही मचाने के बाद राजस्थान में टूटी कमर - The Task News

तौकते तूफान ने लक्षद्वीप के दक्षिण दिशा में विकसित होने से लेकर गुजरात के पास दीव तट पर टकराने तक करीब 1200 किलोमीटर का सफर तय किया. पिछले दो दशकों में अरब सागर में बने किसी भी तूफान ने इतनी ज्यादा दूरी तय नहीं की. तौकते चक्रवात ने यह दूरी 7 दिन में तय की और पश्चिमी तट के सभी 5 राज्य और 2 द्वीप समूहों में भारी तबाही मचाई.

केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र और गुजरात के अलावा लक्षद्वीप और दीव समूह के तटीय हिस्सों में करीब 150 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलीं और 200 से 400 मिमी तक बारिश हुई. कई इलाकों में बिजली सप्लाई ठप हो गई. पेड़ उखड़ गए. सोमवार को जब ताउते तूफान मुंबई से गुजरा था, उस वक्त एक जहाज ‘बार्ज P305’ मुंबई हाई में फंस गया था. इस जहाज पर कुल 273 लोग सवार थे. अब इस जहाज के डूबने की खबर आई है. बड़े स्तर पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर 146 लोगों को बचा लिया गया. बाकी की तलाश की जा रही है. इस शक्तिशाली तूफान ने महाराष्ट्र में 11 लोगों की जान ले ली. मुंबई में तूफान ने भारी तबाही मचाई है.
महाराष्ट्र से गुजरात पहुंचा चक्रवाती तूफान तौकते अब कमजोर पड़ गया है. हालांकि उससे पहले इसने गुजरात में भी जमकर तबाही मचाई. 185 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गुजरात तट से टकराए इस तूफान का 20 से ज्यादा जिलों में बड़ा असर दिखा. तौकते के तेवरों को देखते हुए गुजरात में 1.5 लाख से अधिक लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना पड़ा. एनडीआरएफ की 50 से ज्यादा टीमें लोगों की जान-माल की हिफाजत में लगानी पड़ी. जामनगर, राजकोट, अमेरेली और सोमनाथ में तौकते ने भारी तबाही मचाई है.

गुजरात से निकले तौकते को लेकर अब राजस्थान में अलर्ट जारी हुआ है. मौसम विभाग ने राजस्थान के जोधपुर और उदयपुर संभाग में भारी बारिश की चेतावनी दी है. डूंगरपुर, बांसवाड़ा सहित अन्य जिलों में NDRF की टीमें तैनात की गई हैं. तेज हवाओं के साथ भारी बारिश को लेकर 19 मई के लिए अलर्ट जारी किया गया है.