स्वनिधि योजना : रेहड़ी और पटरी पर काम करने के लिए 10 हजार का लोन - The Task News

भारत सरकार स्वनिधि योजना के तहत देश के रेहड़ी और पटरी वालों जो अपना खुद का काम करना चाहते हैं उसके लिए केंद्र सरकार 10 हजार रूपये तक का लोन दे रही है, जिसे किस्तों में एक साल के अंदर लौटाना होगा.
इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में ट्रांसफर किया जाएगा। लोन लेने के लिए वेंडर को निगम द्वारा जारी पहचान पत्र लेना होगा, अगर स्ट्रीट वेंडर्स पंजीकृत नहीं है तो भी वह स्वनिधि योजना के अंतर्गत ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।

किसे मिल सकता है स्वनिधि योजना का लाभ

1) पान , नाई की दुकान, मोची की दुकान
2) कपड़ा धोने के लिए धोबी की दुकान
3) सब्जी और फल बेचने वाले
4) स्ट्रीट फूट (खाने के लिए छोटे मोटे ठेले वाल)
5) फेरीवाला जो कपड़ा बेचते हैं
6) किताबें/स्टेशनरी लगाने वाले
7) कारीगर उत्पाद

कौन कौन देता है लोन

1) क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
2) सहकारी बैंक
3) अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक
4) स्मॉल फाइनेंस बैंक
5) नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां
6) माइक्रो फाइनेंस इंस्टीट्यूंशंस और एसएचजी बैंक

लोन पाने के लिए जरुरी कागजात

1) आवेदक का वोटर और आधार कार्ड
2) बैंक अकाउंट पासबुक
3 पासपोर्ट फोटो और मोबाइल नंबर

अधिक जानकारी के लिए अधिकारिक साइट पर जाए