कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले बच्चों को अपनी चपेट में लेने लगा है कोरोना, तीन राज्यों की हालात गंभीर - The Task News

कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले 3 राज्यों में अचानक बच्चों में कोरोना संक्रमण फैलने लगा है. उत्तराखंड, एमपी और राजस्थान में बच्चे संक्रमित होने लगे हैं. राजस्थान के 2 जिलों से बच्चों के कोरोना संक्रमित होने की रिपोर्ट आई है. दौसा में 22 दिनों में 300 बच्चे संक्रमित हो गए है तो वहीं सीकर में 83 दिनों में 1757 बच्चे संक्रमित हो गए. लेकिन संक्रमित हुए इस बच्चों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले. हालांकि अभी दौसा में एक भी बच्चा कोरोना संक्रमित नहीं है। वही
मध्य प्रदेश के सागर में बच्चों पर कोरोना का कहर देखने को मिल रहा है. हालात को देखते हुए प्रशासन अलर्ट मोड पर है. सागर में जिले में पिछले 1 महीने में 302 बच्चे कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. यहां 4 संक्रमित बच्चों की मौत हौ गई. जिसके बाद से सागर जिले में चाइल्ड कोविड केयर सेंटर तैयार किया गया है. हालात चिंताजनक हैं.

इनसभी के बीच उत्तराखंड सरकार की ओर से जारी कोरोना संक्रमण के आंकड़ों में चौंकाने वाली बात सामने आई है. इस साल 1 से 20 मई के बीच उत्तराखंड में 9 साल से कम उम्र के 2044 बच्चे कोरान संक्रमित मिले हैं. इसके अलावा इस दौरान यहां 8,661 ऐसे संक्रमित मिले. जिनकी उम्र 10 से 19 साल की बीच है ।
संक्रमित बच्चों में कुछ इस तरह के लक्ष्ण पाये गए है, जैसे की सांस लेने में दिक्कत की शिकायत, बच्चे की नाक बह रही हो, उसे तेज़ बुखार या हल्की खांसी हो, बच्चा पेट दर्द की शिकायत करे, वो थका थका सा लगे, बच्चे को दस्त या उल्टी हो रही हो.

तो आप सावधान हो जाएं. तुरंत कोरोना के इलाज में लगे डॉक्टरों से संपर्क करें. उनसे बात करें और स्थिति बताएं, जरूरत होने पर बच्चे की जांच जरूर कराएं.