पहलवान सुशील कुमार की गिरफ्तारी और उसके पीछे की पूरी कहानी - The Task News

हत्या का आरोपी सुशील कुमार पहलवान दिल्ली पुलिस की गिरफ्त में आ गया है. पहलवान साथी सागर धनखड़ की हत्या का आरोपी सुशील कुमार पिछले 20 दिनों से दिल्ली पुलिस से बचने के लिए दांव पेच चल रहा था, लेकिन उसकी कोशिश नाकाम हो गई और वो कल दिल्ली से गिरफ्तार हो गया । दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक उसने कबूल किया है कि वो पहलवान सागर से मारपीट में शामिल था । हालांकि मीडिया के सामने सुशील कुमार ने कहा है कि वो निर्दोष है । अब सच क्या है ये खुद सुशील कुमार दिल्ली पुलिस को बताएगा, क्योंकि दिल्ली की रोहिणी कोर्ट ने पुलिस को सुशील कुमार की 6 दिन की रिमांड दी है । सुशील कुमार ने माना कि छत्रसाल स्टेडियम में हुई मारपीट में वो शामिल था । घटना के बाद सुशील ने बताया कि वो घर आकर सो गया था । दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को सुशील ने बताया कि उसे यकीन नहीं था कि पहलवान सागर को इतनी ज्यादा चोट लग जाएगी कि उसकी मौत हो जाएगी ।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सुशील कुमार को गिरफ्तार करने के बाद शुरुआती पूछताछ की । सूत्रों के मुताबिक उस पूछताछ में उसने पहलवान सागर के साथ मारपीट की बात कबूल कर ली है, लेकिन उसका ये कबूलनामा कोर्ट के सामने मंजूर होगा या नहीं ये अभी कहा नहीं जा सकता
सुशील कुमार दोषी या निर्दोष ये तो कोर्ट को तय करना है लेकिन वो 20 दिनों तक पुलिस से क्यों बचता रहा, आखिर उसने पुलिस के सामने सरेंडर क्यों नहीं किया ये सारे सवाल है. उसकी बेगुनाही के दावे पर ही सवाल खड़े करते हैं ।

बीते 20 दिनों के अंदर सुशील पहलवान ने 4 राज्यों के चक्कर लगाए और वहां छिपने की कोशिश की । आपको मैप के ज़रिए समझाने की कोशिश करते हैं कि 20 दिनों में सुशील कुमार पुलिस बचने के लिए कहां-कहां गया । 4-5 मई की रात को दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में सागर पहलवान की हत्या हुई थी । जिसके बाद 6 मई को सुशील कुमार से दिल्ली से हरिद्वार-ऋषिकेश में एक बाबा के आश्रम में छिप गया था, 7 मई को वो वापस दिल्ली और दिल्ली आने के बाद हरियाणा के बहादुरगढ़ चला गया. बहादुर गढ़ से सुशील कुमार चंडीगढ़ गया, फिर चंडीगढ़ से पंजाब के बठिंडा गया फिर बठिंडा से चंडीगढ़ और फिर गुरुग्राम आया. 23 मई को सुशील वापस दिल्ली के मुंडका आया, जहां उसे दिल्ली पुलिस ने धर दबोचा ।

ओलंपिक विजेता पहलवान लगातार किसी पेशेवर अपराधी की तरह पुलिस को चकमा देता रहा । सूत्रों के मुताबिक सुशील कुमार अलग नंम्बरों से अपने करीबियों के संपर्क में था । दिल्ली पुलिस की कई टीमें पहलवान सुशील कुमार की तलाश में अलग-अलग राज्यों में गई हुईं थीं । आखिरकार दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने उन्हें दिल्ली से ही अरेस्ट कर लिया ।
रविवार को सुशील कुमार और अजय को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने दिल्ली के मुंडका से गिरफ्तार किया. मुंडका में सुशील कुमार अपने करीबी से पैसे लेने के लिए जा रहा था, क्योंकि उसके पास पैसे खत्म हो गए थे । सुशील पैसे लेने के बाद वापस पंजाब फरार होने की फिराक में था, लेकिन उसकी कोशिश दिल्ली पुलिस ने नाकाम कर दी ।